Showing posts with label Recommanded. Show all posts
Showing posts with label Recommanded. Show all posts

Wednesday, 28 March 2018

घर की स्त्रियों को गलती से ना करने दें ये 4 काम, 3 नंबर वाले के बारे में जान आपके भी उड़ जायेंगे होश

आज के युग का हर व्यक्ति अपने दैनिक जीवन की जरूरतों को पूरा करने के लिए हमेशा ही प्रयासरत रहता है, किन्तु कई बार वह असफल होकर निराश हो जाता है. जिससे वह अपने जीवन में भी हताश होने लगता है, आज हम आपको समाज में मौजूद कुछ ऐसे तथ्यों के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे आपका मानसिक और आर्थिक दोनों ही प्रकार की हानि होती है वैदिक काल से ही पुरुष और महिलाओ के लिए बहुत से नियम बनाये गए है , जिनका पालन करना बहुत ही जरूरी है आज हम उन में से कुछ पर प्रकाश डालेंगे !


जैसा की हम सभी को पता है की एक महिला का जीवन बहुत ही संघर्षमय होता है उसे  जीवन में बहुत सी मुश्किलों का सामना करना पड़ताऔर महिलाओ को दैनिक जीवन में बहुत से नियमो का पालन करना पड़ता है ,आज हम उन्ही में से चार कामो के बारे में बताने वाले है ,जिन्हें भूल कर भी नहीं करना चाहिए !
शराब पीना :– महिलाओ को भूल कर भी शराब नहीं पीनी चाहिए ,क्योकि नशे में महिलाये ऐसे काम कर देती है जो समाज को स्वीकार नहीं होते !
दुष्ट पुरुषो से दोस्ती :– स्त्रियों को कभी भी बुरे पुरुषों से दोस्ती नहीं करनी चाहिए, क्योंकि ऐसा करने से स्त्रियों को बहुत सी परेशानियों को सामना करना पड़ सकता है. चालाक पुरुष स्त्रियों से सिर्फ अपने फायदे के लिए दोस्ती करते हैं और फायदा पूरा हो जाने के बाद स्त्रियों को पूछते भी नहीं हैं. जिससे उनका घर बर्बाद हो जाता है !
बिना वजह घूमना :– महिलाओ को बिना किसी काम  के इघर उधर नहीं घूमना चाहिए ऐसी महिलाओ को समाज बहुत ही गिरा मानता है ,अगर ऐसी महिलाएं शादीशुदा होती है तो उन्हें गलती से भी ऐसा करने के बारे में सोचना भी नहीं चाहिए, क्योंकि उनकी इस हरकत की वजह से उसके मायके और ससुरालवालों दोनों को ही बदनामी का मुंह देखना पड़ सकता है!
पति से अलग रहने वाली महिला:– बहुत सी ऐसी महिलाये होती है जो अपने पति को छोड़ कर मायके में जा कर रहने लगती है ऐसी महिलाओ को पर समाज थूकता है ,महिलाओ को भूल कर भी पति से अलग नहीं रहना चाहिए !

जरूर पढ़ें - अनशन पे बैठे अन्ना हज़ारे ने बोला - अच्छा हुआ कि केजरीवाल हमारे साथ नहीं

अन्ना हज़ारे ने कहाँ - मैंने कई बार बताया हैं कि जो लोग मेरे साथ थे (केजरीवाल ) उन लोगो ने राजनीतिक पार्टी बनाली और जिस दिन उन लोगो ने राजनीतिक पार्टी बनाई उसी दिन से उनका और मेरा रास्ता अलग 

अन्ना हज़ारे


दिल्ली के रामलीला मैदान में समाजसेवी अन्ना हजारे के अनशन को 5 दिन से ज्यादा गुजर गये हैं। अपनी मांगों के समर्थन में अन्ना हजारे का अनशन जारी है। हालांकि रामलीला मैदान में अन्ना हजारे का आंदोलन तो चल रहा है लेकिन इस आंदोलन में भीड़ बहुत ज्यादा नहीं जुट रही है। इस बीच अन्ना हजारे ने कहा है कि अच्छा है कि अरविंद केजरीवाल मेरे साथ नहीं हैं। एक न्यूज चैनल से बातचीत करते हुए अन्ना हजारे ने कहा कि ‘मैंने कई बार बताया है कि जो लोग हमारे साथ थे, उन्होंने अपनी राजनीतिक पार्टी बना ली। जिस दिन से उन्होंने पार्टी बनाई, उस दिन से मेरा और उनका कोई संबंध नहीं है। उनका और हमारा रास्ता अलग-अलग है।
आपको याद दिला दें कि साल 2011 में अन्ना हजारे के नेतृत्व में दिल्ली में ही भ्रष्टाचार के खिलाफ एक बड़ा आंदोलन हुआ था। उस आंदोलन में अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसोदिया, कुमार विश्वास समेत कई लोगों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया था। उस वक्त भी केंद्र में यूपीए की सरकार थी और सरकार पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे थे। देश से भ्ष्टाचार खत्म करने और लोकपाल की नियुक्ति को लेकर अन्ना हजारे उस वक्त भी भूख हड़ताल पर बैठे थे। बाद में इसी आंदोलन से निकले अरविंद केजरीवाल और दूसरे अन्य लोगों ने मिलकर आम आदमी पार्टी बना ली थी। राजनीतिक पार्टी बनाने के बाद से अन्ना हजारे अरविंद केजरीवाल से अलग हो गए थे।
अब एक बार फिर अन्ना हजारे दिल्ली मेंं अनिश्चितकालीन पर बैठे हैं। लोकपाल और लोकायुक्तों की नियुक्ति तथा देश में किसानों की हालत को लेकर अन्ना हजारे इस बार केंद्र की मोदी सरकार से बेहद नाराज हैं। अपने करीब 11 मांगों को लेकर अन्ना हजारे अनशन पर बैठे हैं। कई दिनों से अन्न नहीं ग्रहण करने की वजह से अन्ना हजारे की तबियत भी बिगड़ रही है। हालांकि डॉक्टर नियमित रुप से अन्ना की जांच कर रहे हैं। इस बीच अन्ना हजारे ने साफ कर दिया है कि जब तक उनमे सांस है तब तक उनका यह आंदोलन जारी रहेगा। खबर यह भी है कि अन्ना हजारे के कुछ मांगों पर सरकार ने अपनी सहमति जता दी है हालांकि अभी भी अन्ना हजारे सरकार पर दबाव बनाने और अपनी सभी मांगों को मनवाने के लिए अनशन पर बैठे हैं।

Tuesday, 27 March 2018

राम मंदिर को रोकने के लिए राहुल गाँधी दीपक मिश्रा को हटाने के लिए ला रहे संसद में प्रस्ताव



चीफ जस्टिस ऑफ़ इंडिया दीपक मिश्रा को बर्खास्त करवाने के लिए राहुल गाँधी संसद में प्रस्ताव लाने की तैयारी कर चुके है, और उन्होंने कांग्रेस के सांसदों से भी इस प्रस्ताव के लिए हस्ताक्षर करवा लिए है, कांग्रेस कल या आने वाले कुछ दिनों में संसद में दीपक मिश्रा को पद से हटाने के लिए प्रस्ताव ला सकती है, ये सबकुछ इसलिए किया जा रहा है क्यूंकि दीपक मिश्र ने कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल की बात नहीं मानी थी और राम मंदिर के केस को 2019 के मध्य तक लटकाने से इंकार कर दिया था 

कांग्रेस किसी भी तरह राम मंदिर पर होने वाले फैसले को रोकना चाहती है, चूँकि कांग्रेस भी जानती है की अयोध्या में मंदिर ही था जिसे तोड़कर मस्जिद बनाई गयी थी, इसी आधार पर इलाहबाद हाई कोर्ट ने भी फैसला दिया था, और इसी आधार पर सुप्रीम कोर्ट भी फैसला देगा, इसी कारण कांग्रेस अधिक से अधिक समय तक राम मंदिर पर फैसले को लटकाए रखना चाहती थी, दीपक मिश्रा ने इस से इंकार कर दिया और इस मामले की सुनवाई अब हो रही है 

अब राम मंदिर के केस में एक जज दीपक मिश्रा भी है, कांग्रेस अब संसद में प्रस्ताव लाकर दीपक मिश्रा को हटाने की तैयारी कर चुकी है, हालाँकि संसद में कांग्रेस के पास बहुमत नहीं है, की वो दीपक मिश्रा को हटा सके, पर कांग्रेस इसके द्वारा दीपक मिश्रा पर दबाव बनाना चाहती है की राम मंदिर और अन्य मामलों में वो कांग्रेस के मुताबिक फैसले दें 



दीपक मिश्रा के खिलाफ कांग्रेस ने प्रस्ताव भी तैयार कर लिया है, इस प्रस्ताव को लेफ्ट, TMC और ने सभी सेक्युलर दल समर्थन कर रहे है, दीपक मिश्रा पर राम मंदिर, के अलावा मुताह हलाला और कई अन्य मामलों में दबाव बनाने के लिए कांग्रेस और उसके साथी इस प्रस्ताव को ला रहे है, दीपक मिश्रा ने कांग्रेस की बात मानने से इंकार किया इसी कारण कांग्रेस अब उन्हें हटाने के लिए ड्राफ्ट ला रही है, कांग्रेस किसी भी तरह राम मंदिर पर होने वाले फैसले को रोकना चाहती है उसी कड़ी में ये प्रस्ताव लाया जा रहा है 

Monday, 26 March 2018

आखिर सड़कों पर क्या खींची जाती है पीली और सफेद लाइन, जानें इनका मतलब

अक्सर सड़क पर चलते समय हमारा दिमाग सड़क के अलावा सभी जगह के बारे में सोचता है. हर व्यक्ति जो सड़क पर चलता है उसे हर चीज़ पर गौर करना चाहिए. ट्रैफिक रूल्स का पालन करना भी बेहद आवश्यक है. क्या कभी आपने सड़क पर चलते समय थोड़ा सा भी गौर किया है. आप देख सकते हैं कि सड़क पर हमेशा दो प्रकार की लाइन बनी रहती है, जिनमें से एक होती है पीली और दूसरी होती है सफ़ेद.
सड़क पर चलने के दौरान आप लोगो ने जरुर अपने दिमाग से यह प्रश्न किया होगा की आखिर यह लाइन एक जैसी ना होकर अलग- अलग क्यों है. चलिए इसका जवाब हम आपको देते है और आपको विभिन्न प्रकार की सड़क पर बनी लाइनों के बारे में बताते है.
Image May Be Copyright

1. गहरी सफेद लाइन :- इस लाइन का मतलब होता है कि आपको अपनी लेन नहीं बदलनी है, यानी जिस लेन पर चल रहे है उसी पर आगे तक बढ़ते रहें।
2. टूटी हुई सफेद लाइन :- वहीं सड़क के बीचों-बीच एक निश्चित दूरी पर बनी जो सफेद लाइन है वह इस बात का संकेत देती हैं कि यहां से लेन बदले सकते हैं।
3. गहरी पीली लाइन :- इस लाइन के अनुसार पासिंग और ओवरटेकिंग सड़क पर संभव है, पर आपको बिना पीली लाइन को पार किए ही ओवरटेकिंग करना होगा।
इसके साथ-साथ भारत के अलग-अलग राज्यों में इसको लेकर अलग-अलग नियम बनाये जा चुके हैं –
4. गहरी पीली लाइन के साथ एक टूटी हुई पीली लाइन :- अगर आप ब्रोकन लाइन की ओर से ड्राइविंग कर रहे हैं तो आप आसानी से ओवरटेक इस पर कर सकते हैं, लेकिन अगर आप दूसरी तरफ से गाड़ी चला रहे हैं तो आप इस पर ओवरटेक नहीं कर सकते।
5. दो गहरी पीली लाइन :- आप इस लाइन पर पासिंग या ओवरटेक नहीं कर सकते।
6. टूटी हुई पीली लाइन :- इस लाइन पर आप सिर्फ पास कर सकते हैं लेकिन वह भी बहुत सावधानी के साथ।
यह थी कुछ अहम जानकारी जिसे पढ़ कर आपके कुछ प्रश्न जरुर क्लियर हो गये होंगे…!!